हवाई मार्ग से

हवाई जहाज से बुरहानपुर पहुंचने के लिए, निकटतम हवाई अड्डा 210 किमी की दूरी पर स्थित इंदौर शहर में स्थित है। इंदौर हवाई अड्डे में दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, रायपुर, नागपुर जैसे अन्य प्रमुख हवाई अड्डों के साथ अच्छी उड़ान कनेक्टिविटी है |

रेल मार्ग से

बुरहानपुर से मुंबई-दिल्ली और मुंबई-इलाहाबाद, केंद्रीय रेल मार्ग पर है। इस गंतव्य के लिए कई अति-तेज़, एक्सप्रेस ट्रेनें हैं।बुरहानपुर में मुंबई, दिल्ली, आगरा, वाराणसी, ग्वालियर, कटनी, जबलपुर, पिपरिया, झांसी, भोपाल जैसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों और शहरों के साथ प्रत्यक्ष ट्रेन कनेक्टिविटी है।

सडक मार्ग से

महाराष्ट्र राज्य की सीमा के निकट होने से, भूसावल, जलगांव, औरंगाबाद आदि के लिए बहुत अच्छी सड़क मार्ग है। इंदौर से बुरहानपुर तक बसें प्रति दिन रहती है ।

यात्रा करने के लिए सबसे अच्छा समय

बुरहानपुर, मे मूल रूप से पर्यटक पूरे वर्ष कभी-भी आ सकते है । अक्टूबर से मार्च का मौसम बुरहानपुर आने का सबसे अच्छा समय होगा क्योंकि इस समय के दौरान जलवायु अच्छी रहती है जिस से ,भारत और अन्य देशों के पर्यटकों द्वारा यात्रा का आनंद लिया जा सकता है।.

अधिक जानकारी के लिये हमसे संपर्क करे

फोटो गैलरी

फोटो गैलरी

  • शाही किला,बुरहानपुर

  • आहुखाना,जैनाबाद के पास बुरहानपुर

  • राजा की छतरी,बोहर्डा

  • असीरगड, असिर,खंडवा रोड

  • गुरुद्वारा बडी संगत,उद्योग नगर,खंडवा रोड बुरहानपुर

  • काला ताजमहल,उद्योग नगर बुरहानपुर

  • दरगाह-ए-हकीमी, लोधीपुरा बुरहानपुर

  • ईच्छादेवी मंदीर,ईच्छापुर बुरहानपुर

  • कुण्डी भंडारा,लालबाग रोड बुरहानपुर

  • शनवारा गेट, बुरहानपुर

  • ताप्ती घाट, बुरहानपुर

  • महल गुलारा, बुरहानपुर

बुहानपुर पर्यटन विकास परिषद

बुहानपुर पर्यटन विकास परिषद,मध्यप्रदेश सोसायटी रजिस्ट्रीकरन अधिनियम 1973 के अधिन 20जनवरी 2015 को पंजिकृत हुई है ।

..

समिती पंजियन प्रमाणपत्र

बी.टी.पी.सी.,मध्यप्रदेश सोसायटी रजिस्ट्रीकरन अधिनियम 1973 के अधिन 20जनवरी 2015 को पंजिकृत हुई है ।

..

कार्यालय का पता

रूम नं 24, कलेक्टर कार्यालय, बहादरपुर रोड,बुरहानपुर (म.प्र.) -450331 फोन नं -07325-242042 इ मेल -dmburhanpur@nic.in

..

पर्यटन पर्व बुरहानपुर

6 अक्टूबर से 25 अक्टूबर 2017,पर्यटन पर्व के अंतर्गत फिल्म प्रदर्शन,क्विज प्रतियोगिता,ताप्ती महोत्सव,हेरीटेज वाक,फूड फेस्टीवल एवं फोटॉग्राफी प्रतियोगिता

असिरगड किले का विडियो देखने के लिये प्ले बटन दबाये

पर्यटक आकर्षण

बुरहानपुर शहर में पर्यटन के लिए कई जगह हैं। इनमें से ज्यादातर ऐतिहासिक स्मारक, समाधि और फरुकी वंश और मुगल वंश के दौरान बनाए गए भवन हैं।

Mountain View

असीरगढ का किला

यह बुरहानपुर से करीब 14 मील दूर एक ऐतिहासिक और रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण किला है, सतपुरा पहाड़ियों के एक टाइल के शीर्ष पर एक ऐतिहासिक, अजेय किला है भारत के दक्षिणी भाग को विनियमित करने के लिए इस किले को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता था क्योंकि कुछ इतिहासकार ने इसे "डेक्कन की चाबी" नाम से संबोधित किया था। कुछ लेखक ने कहा कि इस किले पर विजय प्राप्त करना, दक्षिणी क्षेत्र या खानदेश पर कब्जा करने के तरीके अधिक आसान हो जाते हैं। यह अपने बेस से लगभग 25 9 .1 मीटर ऊंचा है और समुद्री स्तर से 701 मीटर ऊंचा है।", इस किले के अंदर एक मस्जिद, भगवान शिव मंदिर और एक महल है। यह वास्तव में 3 भागों में विकसित किया गया है और प्रत्येक भाग का अपना नाम है पहले भाग को "असिर्गगढ़" कहा जाता है, दूसरे भाग में "कमगरगढ़" और त्रिभुज भाग "Malaygarh" कहा जाता है

Mountain View

आहुखाना

यह पार्क, ताप्ती नदी के अगले हिस्से में रॉयल किले के सामने है। यह शाहजहां डैनियल के शिकार क्षेत्र था इसके आंगन में एक टैंक, एक महल है, जिसका निर्माण शाहजहां द्वारा किया गया था। इस आंगन को पूर्व की ओर एक बड़ा पानी कंटेनर है। यह पार्क ईरानी शैली में लगाया गया था, जिसे आलम-आरा और बाग-ए-जैनबाद भी कहा जाता है शाहजहां की प्यारी पत्नी मुमताज-महल, उसकी मौत के छह महीने बाद यहां दफन हो गई थी। एक बार राजकुमार औरंगजेब अपनी चाची के लिए यहां रुके थे, एक लड़ाई के लिए दक्षिण की ओर बढ़ते समय, अपने प्रवास के दौरान वे इस पार्क (बैग) में हीराबाई (जैनबादी begum) के साथ प्यार में गिर गए।

Mountain View

जल आपूर्ति प्रणाली -कुंडी भंडारा

मुगल इंजीनियरों ने बुर्हानपुर शहर में अनुकरणीय पानी की आपूर्ति प्रणाली की भेंट की, जो अभी भी शहर में सक्रिय रूप से प्रयोग किया जाता है। उन्होंने 8 पानी की आपूर्ति प्रणाली बनाई जो पिछले शहर में पर्याप्त पानी का प्रवाह प्रदान करती है। वे भारत में मुगल वंश के दौरान किए गए कुछ अत्यधिक सराहनीय इंजीनियरिंग कार्यों के बीच गिने जाते हैं। मुगल सम्राट शाहजहां और औरंगजेब के शासन के दौरान किए गए अधिकांश काम उनकी सातपुरा पहाड़ियों में भूमिगत जल प्रवाह चैनलों की संख्या होती है जो पानी ताप्ती नदी तक पहुंचती हैं। मुगल इंजीनियरों ने पानी के जलाशयों को विकसित करने के लिए 3 अंक पर पानी के चैनलों को नियंत्रित किया, जिन्हें "मूल भंडारा", "सुखा भंडारा" और "चिंतामणि भंडारा" नाम से जाना जाता है। वे बुरहानपुर शहर के उत्तर में स्थित हैं और करीब लगभग एक ऊंचाई पर हैं।

Mountain View

गुरुद्वारा

बुरहानपुर गुरुद्वारा सिख धर्म अनुयायियों के अनुयायियों के लिए महत्वपूर्ण तीर्थ स्थान के बीच गिना जाता है। सिख धर्म के संस्थापक, गुरु नानकदेव जी और उनके अंतिम गुरु (शिक्षक) गुरु गोबिंद सिंह जी ने इस गुरुद्वारा का दौरा किया है। अधिकांश गुरुद्वारा ताप्ती नदी के तट पर स्थित हैं। यहां आप गुरु ग्रन्थ साहिब (धार्मिक पुस्तक) और गुरु गोविंद सिंह जी के हथियार देख सकते हैं। यह गुरूद्वारा लगभग 400 वर्ष पुराना है।

Mountain View

महल गुलारा

शहर से सात मील दूर, गुलरा पैलेस अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। यहां एक पानी की गिरावट है जो चंद्रमा की रोशनी में इस जगह को सुंदर बनाता है; तालाब में दो महलों दोनों तरफ हैं यहां उतावली नदी के एक उच्च स्थान पर हजरत निजामुद्दीन का मकबरा भी है, जो आदिल-खान का एक धार्मिक संरक्षक था।

Mountain View

दरगाह-ए-हकिमी

बुरहानपुर से लगभग 2 कि.मी.दूर एक ग्राम लोधीपुरा है। विश्वभर के दाऊदीबोहरा सम्प्रदाय के आस्था केंद्र के रुप मे विकसीत सुविख्यात तीर्थ स्थल दरगाहे-हकीमी यहा स्थित है । यहा धर्मगुरू सैयदना अब्दुल कादर हकिमुद्दीन साहब,अब्दुल तैयब जकिउद्दीन साहब एवं सैयदी शेख जीवनजी साहब की मजारे है। संगमरमर को तराशकर जिस कुशलता के साथ मजारो को निर्मीत किया गया है,यह अपने आप मे अद्वितिय है।

Mountain View

इच्छादेवी का मंदिर

बुरहानपुर से लगभग 23 किमी दूर मध्यप्रदेश- महाराष्ट्र की सीमा संधि स्थल पर ग्राम इच्छापुर बसा है। गांव का नाम करण इच्छादेवी ( मनोकामना पूर्ण करने वाली देवी)के नाम पर किया गया है। माना जाता है कि एक मराठा सुबेदार ने पुत्र प्राप्ति की अपनी मनोकामना पूर्ण होने पर अबसे 450 वर्ष पूर्व एक पहाडी पर इस मंदिर का निर्माण करवाया था ।

Mountain View

कबीर निर्णय मंदिर

इसकी स्थापना 1829 ई.मे संत श्री पूरणसाहेब ने की थी । उनका जन्म 1805 ई.मे हुआ था । वे एक वैराग्यवान पारखी संत थे । ताप्ती के किनारे नागझिरी मोहल्ले मे स्थित कबीर निर्णय मंदिर एक विशाल भवन मे स्थित है। इस मंदिर को कबीर दर्शन से परिचित कराने वाले महाविद्यालय के रुप मे ख्याति प्राप्त है । यहा प्रतिवर्ष श्री पूरण साहेब की तिथी पर एक समारोह आयोजित किया जाता है।

Mountain View

जामा मस्जिद

नगर के ह्रुदय स्थल पर अपनी 36*1/2 मीटर लम्बी मीनारों के साथ खडी इमारत जामा मस्जिद तात्कालीन पाषाण शिल्प का बेहतरीन नमूना है। फारुकी शासक राजा अली खान ने इसे 1588-89 ई.मे बनाया था । मस्जिद का निर्माण उसमे लगे दो शिलालेखो से मिलता है। पहला शिलालेख अरबी भाषा मे है,जिसमे अन्य बातो के अलावा यह अंकित किया गया है की ईस मस्जिद का निर्माण श्रेष्ठ उपलब्धिया प्राप्त करनेवाले फारुकी शासक आदिल शाह फारुकी के आदेश से हुआ है,दुसरा शिलालेख जो अरबी एवं संस्कृत मे उस्कीर्ण है,मस्जिद निर्माण के साथ ही फारुकी शासको की वंशावली की जानकारी देता है।

Mountain View

राजा जयसिंह की छतरी

राजस्थान की स्थापत्य कला का प्रदर्शन कराने वाली राजा जयसिंह की छतरी नगर से लगभग 6 कि.मी.दूर मोहना एवं ताप्ती के संगम पर स्थित है । 32 खम्बो वाली इस आकर्षक छत्री पर गुम्बद के आजु-बाजु 4 बडे एवं 4 छोटे गुम्बद निर्मित है,जो छत्री को अतिरिक्त सौंदर्य प्रदर्शन कराते है।

Mountain View

शाह नवाज खां का मकबरा

उतावली नदी के किनारे शहर से लगभग 2कि.मी.दूर, काले पत्थरो से बना यह मकबरा मुगल काल की एक भव्य - सुंदर इमारत है। इस मकबरे का निर्माण रचना चौकोर है , जिसके चारो ओर बरामदे बने है। मकबरे के चारो कोनोपर निर्मित बुर्जियो एवं छतरियों ने मकबरे मे अतिरिक्त सौंदर्यवृद्धी कर दी है।

Mountain View

रोकडिया हनुमान मंदिर

यह मंदिर उतावली नदी के पार शाह नवाज खान के मकबरे के आगे स्थित है। यहा प्रतिवर्ष पौष माह की पूर्णिमा को मेले का आयोजन होता है ।

ठहरने की व्यवस्था

बुरहानपुर शहर मे यात्रीयो के रुकने हेतु शासकिय एवं निजी हॉटेल्स भी उपलब्ध है |
हॉटेल्स का पता एवं फोन नंबर देखने हेतु हॉटेल्स के फोटो पर Mouse Curser ले जाये ।

होटल ताप्ती रिट्रीट

पता - ईच्छापुर रोड,बुरहानपुर

फोन नं: 073252 42244

उत्सव होटल एवं रिसोर्ट

पता: बहादरपुर रोड,बुरहानपुर

Phone: 073252 57888

होटल पंचवटी

पता: बस स्टेड के पास,अमरावती रोड बुरहानपुर

फोन नं: 073252 58855

वास्तुशिल्प गेस्ट हाउस

पता: 38, बालाजी नगर,अमरावती रोड,शास.विश्राम घर के पिछे ,बुरहानपुर

फोन नं: 098272 16391

होटल अंबर & होलिडे रिसोर्ट

पता: बस स्टेंड के पास, अमरावती रोड ,बुरहानपुर

फोन नं: 073252 58855

होटल मधुबन

पता: गांधी चौक, शनवारा रोड, बुरहानपुर

फोन नं: 073252 55136

ताप्ती,तप और ताकत

पुस्तक दो संस्करणों में उपलब्ध है ।

कॉफ़ी टेबल बुक

1100 /-
रुपये प्रति किताब
  • पृष्ठों की संख्या- 500
  • साईज - 25*40

कॉफ़ी टेबल बुक

500 /-
रुपये प्रति किताब
  • पृष्ठों की संख्या -500
  • साईज -25*40

कैसे खरीदें

बी.टी.पी.सी
.
  • कमरा नं 24, कलेक्टर कार्यालय
  • बुरहानपुर-म.प्र.

कॉफ़ी टेबल बुक

1100 /-
रुपये प्रति किताब
  • पृष्ठों की संख्या -500
  • साईज -25*40

कॉफ़ी टेबल बुक

500 /-
रुपये प्रति किताब
  • पृष्ठों की संख्या -500
  • साईज -25*40

नये समाचार

बुरहानपुर परिषद की बैठक एवं कार्यक्रमो से संबंधित दिनांकवार समाचार

पर्यटन पर्व के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे

04
ऑक्टोबर , 2017

बैठक में कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि मध्य प्रदेश शासन द्वारा 6 अक्टूबर से 25 अक्टूबर के मध्य पर्यटन पर्व मनाया जायेगा। पर्यटन पर्व के अंतर्गत कार्यक्रम निर्धारित किये गये हैं, जिसमें शैक्षणिक संस्थाओं में पर्यटन स्थलों के बारे में प्रोजेक्टरो के माध्यम से प्रस्तुतीकरण किया जायेगा।

आगे पढे

आज शाही किले में सांस्कृतिक कार्यक्रम और फूड फेस्टिवल का आयोजन होगा

22
ऑक्टोबर, 2017

राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में ‘‘पर्यटन पर्व‘‘ के अंतर्गत शाही किला परिसर में आज 22 अक्टूबर को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि, शाही किले में 22 अक्टूबर को शाम 5 बजे से रात्रि 10 बजे तक सांस्कृतिक कार्यक्रम व फूड फेस्टिवल और फोटो प्रदर्शनी लगाई जायेंगी। उन्होंने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य पर्यटन के प्रति आमजन में जागरूकता लाना हैं। कलेक्टर ने कार्यक्रम में समस्त जिलेवासियों को परिवार सहित आमंत्रित किया हैं।.

आगे पढे

पर्यटन पर्व पर शाही किले में सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने दर्शकों का मनमोह लिया

23
ऑक्टोबर , 2017

राज्य शासन के निर्देशानुसार जिले में ‘‘पर्यटन पर्व‘‘ के तहत शाही किला परिसर में रविवार को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये। इस दौरान शहरवासियों ने ऐतिहासिक फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। शाही किले में शहरवासियों ने फूड फेस्टिवल के तहत चौपाटी का लुत्फ उठाया। स्वादिष्ट व्यंजनों, चाट, भेल पकोड़ी, दराबा व मिठाईयां सहित अन्य खाने की सामग्री की दुकानें लगाई गई।

आगे पढे

महत्वपुर्ण लिंक

पर्यटन एवं सरकार से संबंधित कुछ महत्वपुर्ण लिंक

...
...
...
...
...
...
...
...
...
...

संपर्क

वेबसाईट से संबंधीत कोई भी सुझाव हो तो, कृपया हमसे संपर्क करे: